• Hasheesh

कई बार सहवास करने से पहले ही सीमन बाहर आ जा जाता है, क्या करूं?

अपडेट किया गया: फ़र. 19

मैं कॉलेज के दिनों में मास्टरबेशन करता था, लेकिन उस समय मुझे शादीशुदा जिंदगी पर पड़ने वाले इसके नकारात्मक प्रभाव के बारे जानकारी नहीं थी। कुछ साल पहले ही मैंने शादी की है। कई बार इरेक्शन ठीक आता है, कई बार नहीं। प्राइवेट पार्ट की लंबाई जैसी कोई समस्या नहीं है, लेकिन ज्यादातर बार सहवास के दौरान शीघ्र स्खलन का अनुभव होता है। कभी-कभी ऐसा होता है कि मैं सहवास किए बिना ही स्खलित हो जाता हूं। जब मैं लंबे सहवास की योजना बनाता हूं तो मुझे इरेक्शन ही नहीं होता। कई बार सहवास करने से पहले ही सीमन बाहर आना शुरू हो जाता है। मुझे सीमन पहले की तुलना में कम मात्रा में निकलता है। मैं बहुत निराश हूं। हालांकि मेरी पार्टनर बहुत समझदार हैं। वह मेरा सपॉर्ट करती हैं, लेकिन मुझे लगता है कि उन्हें बेहतर तरीके से संतुष्ट करने में मुझे सक्षम होना चाहिए।

जवाब: सबसे पहले तो एक चीज दिमाग से निकाल दें कि आपकी समस्या का मूल कारण मास्टरबेशन है। मास्टरबेशन से कोई समस्या नहीं होती। सच तो यह है कि सहवास के वक्त जो क्रिया पुरुष का प्राइवेट पार्ट महिला के प्राइवेट पार्ट में करता है, वही क्रिया मास्टरबेशन के दौरान पुरुष अपनी मुट्ठी में करता है। जैसे ज्यादा मैथुन करने से कोई कमजोरी नहीं आती उसी तरह से मास्टरबेशन से भी कोई कमजोरी नहीं आती। मास्टरबेशन भी मैथुन का ही एक प्रकार है। आपको यह समझना होगा कि कई बार उत्तेजित होने से प्राइवेट पार्ट से चिकना पदार्थ निकलने लगता है और वह सीमन नहीं है। इसे हम इस तरह समझ सकते हैं कि गुलाब जामुन देखने से जैसे मुंह में लार आनी शुरू हो जाती है, उसी तरह जब आप सहवास के लिए अपनी पसंदीदा व्यक्ति का ख्याल करते हैं तो प्राइवेट पार्ट से लार के समान चिकना द्रव्य बाहर निकलने लगता है। यह बीमारी नहीं है, इसके लिए इलाज की जरूरत नहीं है। आपको कई बार इरेक्शन ठीक से होता है और कई बार नहीं होता। इसका मतलब यह है कि आपकी समस्या मानसिक है, शारीरिक नहीं। बेफिक्र (बिना किसी चिंता के) सहवास करेंगे तो इरेक्शन के लिए शायद किसी दवा की जरूरत ही न पड़े। वैसे, कोई भी दवा अपने डॉक्टर की सलाह से ही लें।